दरभंगा महाराज की जमीन खाली करने के लिए नोटिस

शहर के सिकंदरपुर में 30 लोगों को मुशहरी सीओ ने दरभंगा महाराज की 1.67 एकड़ जमीन पर कब्जे के सिलसिले में नोटिस जारी किया है। सभी को जमीन के मालिकाना हक से जुड़े कागजात प्रस्तुत करने का निर्देश दिया है। नोटिस को लेकर शनिवार को 18 लोगों ने कागजात लेकर नगर थाने पर मुशहरी सीओ के सामने अपना पक्ष रखा।


दरभंगा महाराज की संपत्ति के स्थानीय केयरटेकर गायघाट के रामनगर निवासी युगल किशोर सिंह ने मुशहरी सीओ को आवेदन दिया था। इसमें बताया था कि सिकंदरपुर तीनमुहाना चौक से अखाड़ाघाट रोड और रानीसती मंदिर की ओर जाने वाले रास्ते के बीच के भाग में स्थित 1.67 एकड़ जमीन दरभंगा महाराज की है। इस जमीन पर कोर्ट से दरभंगा महाराज को डिग्री मिली है। लगातार कोशिशों के बावजूद जमीन पर दखल कब्जा नहीं दिया जा रहा है। जमीन पर दर्जनों लोगों ने अपना बहुमंजिला मकान बना लिया है। मुशहरी सीओ को बताया कि इस जमीन पर मुजफ्फरपुर और पटना हाइकोर्ट में स्वामित्व को लेकर लंबा केस चला। लोअर और हाइकोर्ट ने दरभंगा महाराज के पक्ष में फैसला आया । युगल किशोर सिंह के आवेदन के आधार पर जारी किये गये नोटिस पर गीता देवी, वीरेंद्र कुमार व अन्य, यशोदा देवी, उदय कुमार गुप्ता, अजय कुमार गुप्ता, सुर्यमान प्रसाद, गुलाबी देवी, लीलावती देवी,राजपति देवी, विजय कुमार मोदी, जयनारायण महतो, गंगा देवी, सुदामा देवी, जगलाल, विवेक कुमार अग्रवाल व अन्य, नंद किशोर सिंह, ब्रज किशोर सिंह व अवध किशोर, शशि कुमार व चंदन कुमार, मंजू देवी और अजय कुमार एवं अन्य की ओर से नगर थाने पर कागजात प्रस्तुत किया गया है।।


दरभंगा महाराज की ओर से से दरभंगा चार को पर्चा

मैनेजर युगल किशोर सिंह ने सीओ को बताया कि दरभंगा महाराज की ओर से सिकंदरपुर में इस प्लाट से महज चार लोगों को भूधारी पर्चा मिला है। इसमें सत्यनारायण साह, लक्ष्मण साह, गोपालजी साह और राम अवतार प्रसाद के नाम पर करीब 12 कट्ठे का पर्चा कटा है। शेष ने फर्जी पर्चा करा लिया।


इनपुट हिंदुस्तान

Leave a Reply

Your email address will not be published.