बंदी ने ब्लीचिंग पाउडर पीकर जान देने की कोशिश की SKMCH में कराया गया भर्ती नशा करने का था आदि चल रहा इलाज


मुजफ्फरपुर स्थित अमर शहीद खुदीराम बोस केंद्रीय कारा में एक सज़ावार बंदी ने ब्लीचिंग पाउडर पीकर अपनी जान देने की कोशिश की। जेल प्रशासन के द्वारा उसे फौरन SKMCH में भर्ती कराया गया है। वहां पहुंचते ही उसका इलाज शुरू कर दिया गया। फिलहाल उसकी स्थिति स्थिर बनी हुई है। बंदी पिंकू पटेल उर्फ विक्की पटेल ब्रह्मपुरा का रहने वाला बताया गया है। वह नशे के केस में ही जेल में बंद था। जेल प्रशासन द्वारा बताया गया कि वह ड्रग एब्यूज से ग्रसित था। उसे नशा का सेवन करने की आदत थी। इसके बिना वह अजीबोगरीब हड़कत करता था।

जेल में साफ सफाई के लिए ब्लीचिंग पाउडर का इस्तेमाल किया जाता है। अचानक से उक्त बंदी ने शोर मचाना शुरू कर दिया कि उसने ब्लीचिंग पाउडर पी लिया है। इससे सभी कर्मी भयभीत हो गए। वह हड़कत भी अजीब करने लगा था। उसे फौरन जेल अस्पताल में भर्ती किया गया। फिर प्रारंभिक इलाज के बाद उसे SKMCH में कारा सुरक्षाकर्मी की अभिरक्षा में भर्ती कराया गया है।

धमकी देने की सामने आ रही बात

जेल प्रशासन द्वारा बताया गया कि मेडिकल में उसका जांच किया गया। उसे उल्टियां भी कराई गई। लेकिन, ब्लीचिंग पाउडर पीने का कोई साक्ष्य अबतक नहीं मिला है। ऐसा लग रहा है कि उसने सिर्फ डराने के लिए धमकी दी थी कि ब्लीचिंग पाउडर पी लिया है। जेल प्रशासन ने तुरंत इसपर एक्शन लिया और उसे हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया।

नशेड़ी बंदी की हो चुकी मौत

सेंट्रल जेल में पूर्व में कई नशेड़ी बंदियों की मौत हो चुकी है। जिसमे एक कुढ़नी तो दूसरा बेला का रहने वाला था। दोनों शराब और ताड़ी का सेवन करने के आदि थे। पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। जेल के भीतर नशापान नहीं मिलने से हालत बिगड़ने लगी थी। हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। लेकिन, दोनों बंदियों की मौत हो गयी थी।

इनपुट दैनिक भास्कर

Leave a Reply

Your email address will not be published.