नीतीश कुमार की बढ़ेंगी मुश्किलें? बीजेपी ने ढाई-ढाई साल का फॉर्मूला देकर मांगा CM पद ||

बिहार में एनडीए में शामिल बीजेपी और जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) के बीच लगता है सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है। दोनों पार्टियों के नेताओं के बीच तीखे वार चलने का सिलसिला जारी है। बीजेपी की तरफ से अब ऐसी मांग की गई है जिससे नीतीश कुमार मुश्किलें बढ़ती दिख रही हैं। बीजेपी ने अपना मुख्यमंत्री बनाने की मांग कर डाली है।

बीजेपी सांसद छेदी पासवान ने इसके लिए ढाई-ढाई साल का फॉर्मूला दे दिया है। उन्होंने कहा कि 2010 में बिहार में एनडीए की सरकार बनने पर ढाई साल नीतीश कुमार मुख्यमंत्री रहे, इसलिए इसके बाद के ढाई साल बीजेपी को देना चाहिए।

छेदी पासवान ने नीतीश कुमार पर हमला बोलते हुए कहा कि वो बिना कुर्सी के नहीं रह सकते। मुख्यमंत्री पद के लिए नीतीश कुमार किसी से भी हाथ मिला सकते हैं। छेदी पासवान के बयान पर जेडीयू ने भी पलटवार करते हुए कहा कि उन्हें आईना देखना चाहिए। पहले वो अपने सीनियर नेताओं से बात कर लें। नीतीश कुमार की साख बिहार के साथ पूरा देश जानता है।

विपक्ष ने भी मोर्चा खोला

बीजेपी और जेडीयू के बीच चल रहे वाकयुद्ध में विपक्ष को भी मौका दे दिया है। छेदी पासवान के ढाई-ढाई साल के फॉर्मूले पर बिहार कांग्रेस के प्रवक्ता राजेश राठौर ने पूछा कि बीजेपी नया फॉर्मूला देते हुए अपना मुख्यमंत्री बनाने की बात कहने लगी है, आखिर बीजेपी का यहां मुख्यमंत्री कौन होगा?

गौरतलब है कि छेदी पासवान पहले जेडीयू के हिस्सा थे। मगर वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में टिकट के लिए उनके नाम पर विचार न किए जाने के विरोध में उन्होंने पार्टी से इस्तीफा दे दिया था और बीजेपी में शामिल हो गए थे। जेडीयू में रहने के दौरान छेदी पासवान नीतीश कुमार की सरकार में कैबिनेट मंत्री थे।

इनपुट : लाइव हिंदुस्तान

Leave a Reply

Your email address will not be published.