शिवदीप लांडे पटना पहुंचे, कहा- ‘हमार बिहार’ की धरती पर आ चुका हूं, फ्लाइट लेट होने पर पूछा- बिहारी यात्रियों को बंद डिब्बे में कैसे कैद कर सकते हैं?

सिंघम’ उपनाम से जाने जानेवाले आईपीएस अफसर शिवदीप वामनराव लांडे अंतरराज्यीय प्रतिनियुक्ति से वापस बिहार लौट आए हैं। मंगलवार को पटना पहुंचते ही उन्होंने फेसबुक पर पोस्ट डालकर अपनी वापसी की सूचना दी। उन्होंने लिखा.. अब मैं ‘हमार बिहार’ की धरती पर सेवा देने आ चुका हूं।

महाराष्ट्र में प्रतिनियुक्त की अवधि समाप्त होने के बाद डीआईजी रैंक के अधिकारी शिवदीप लांडे मंगलवार को विमान से मुंबई से पटना पहुंचे। उन्होंने फ्लाइट की निराशनजक यात्रा का भी जिक्र फेसबुक पोस्ट में किया है। लिखा कि मेरी फ्लाइट के प्रस्थान का समय दोपहर 2.55 था, इस लिहाज से सभी यात्रियों को फ्लाइट के अंदर 2.10 पर ही बैठा दिया गया। फिर अचानक 3.29 बजे मोबाइल पर एसएमएस द्वारा जानकारी मिलती है कि यह फ्लाइट अब 4.30 पर उड़ान भरेगी।


लांडे ने सवाल किया है कि बिना किसी उद्घोषणा के आप इतने बिहारी यात्रियों को यूं ही एक बंद डिब्बे में कैसे कैद कर सकते हैं…? क्या ऐसा आप अन्य राज्यों के यात्रियों के संग कर सकते हैं…? जब हम कुछ बिहार के लोगों ने आवाज उठायी तो फ्लाइट को पटना के लिए उड़ान भरनी पड़ी।

45 मिनट तक विमान में इंतजार करते रहे 180 यात्री, हंगामे के बाद उड़ी मुंबई-पटना फ्लाइट
मुंबई से पटना आ रहे स्पाइस जेट के विमान में मंगलवार को अजीबोगरीब वाकया हुआ। यात्रियों को करीब 45 मिनट तक विमान में बिना कारण बताए बिठाकर रखा गया। इसके बाद यात्रियों को 3.29 बजे मैसेज किया गया कि अब उनकी फ्लाइट एसजी 923 शाम साढ़े चार बजे पटना के लिए रवाना होगी। यात्री इस विमान पर 2.55 बजे से पहले ही बैठ चुके थे। एसएमएस मिलने के बाद वे असहज हो गए और विमान में ही हंगामा किया। मामला बिगड़ता देख फ्लाइट 45 मिनट देर से पटना के लिए 3.35 बजे रवाना हुई। इस फ्लाइट में आईपीएस शिवदीप लांडे समेत करीब 180 यात्री थे। मामले का खुलासा शिवदीप लांडे के एक फेसबुक पोस्ट से हुआ। उन्होंने लिखा कि बिना सूचना के बिहारी यात्रियों को एक डिब्बे में कैसे बंद कर सकते हैं। क्या दूसरे राज्यों के यात्रियों के साथ ऐसा कर सकते हैं। जब बिहारियों ने आवाज उठायी, तब फ्लाइट रवाना हुई। शिपदीप का यह पोस्ट सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रहा है।

इनपुट : लाइव हिंदुस्तान

Leave a Reply

Your email address will not be published.