लाखों की संपत्ति का मालिक निकला पूर्व एसआई:EOU की छापेमारी में खुलासा; सैलरी में मिले 60 लाख, जमीन में इंवेस्टमेंट किए 71 लाख रुपए||

लाखों की संपत्ति का मालिक निकला पूर्व एसआई:EOU की छापेमारी में खुलासा; सैलरी में मिले 60 लाख, जमीन में इंवेस्टमेंट किए 71 लाख रुपए|


पटना2 घंटे पहले

बेतिया में घर के बाहर सुरक्षाकर्मी।
सारण के डोरीगंज में थानेदार रहे संजय प्रसाद ने बतौर सब इंस्पेक्टर 30 जून 2009 को बिहार पुलिस की नौकरी ज्वॉइन की थी। 12 साल की नौकरी में 60 लाख के करीब सैलरी मिली। इसमें भी लगातार 29 महीने तक सैलरी अकाउंट से एक रुपए की भी निकासी नहीं हुई। मतलब, मई 2015 से अक्टूबर 2017 तक पूरी सैलरी अकाउंट में ही रही। यह असलियत तब सामने आई जब मंगलवार को EOU ने संजय प्रसाद के काले कारनामों की सच्चाई सामने लाई। काली कमाई कर इन्होंने अपनी आमदनी से 41 प्रतिशत की चल-चल संपत्ति अर्जित कर ली है।


EOU की तरफ से जो डिटेल्स दिए गए हैं, उसके मुताबिक मुजफ्फरपुर के किराए वाले और बेतिया के समहौता वाले पुश्तैनी घर से जमीन और बीमा कंपनियों में इंवेस्टमेंट के काफी सारे डॉक्युमेंट्स हाथ लगे हैं। ADG नैयर हसनैन खान के अनुसार, संजय ने अपनी पत्नी के नाम पर मुजफ्फरपुर जिले के छपरा लोदी माड़ीपुर इलाके में 29.80 लाख रुपए में 1725 स्क्वायर फीट जमीन का प्लॉट खरीदा है। पत्नी के ही बैंक अकाउंट से 7.10 लाख रुपए कैश मिले। खुद के और पत्नी के नाम पर अलग-अलग बीमा कंपनियों की स्कीम में 11 लाख 24 हजार 914 रुपए इंवेस्ट कर रखे हैं।


संजय प्रसाद 50 हजार रुपए की कीमत वाली एक बाइक और 1 लाख रुपए की कीमत वाली एक बुलेट के मालिक भी हैं। शाम तक चली छापेमारी के दौरान 49 लाख 64 हजार 914 रुपए के चल-अचल संपत्ति का पता चला है। जबकि, 35 लाख 18 हजार 30 रुपए का इंवेस्टमेंट कर रखा है। टीम के होश तब उड़ गए, जब मुजफ्फरपुर वाले किराए के घर से टीम के हाथ 2.30 लाख रुपए कैश के अलावा जमीन में इंवेस्ट किए गए 71 लाख रुपए के डॉक्युमेंट्स मिले।


आय से अधिक संपत्ति की FIR

EOU ने इनके और पत्नी के बैंक अकाउंट्स को फ्रीज कर दिया है। संजय प्रसाद सारण से पहले सीतामढ़ी और मुजफ्फरपुर में पुलिस की नौकरी कर चुके हैं। जिन जगहों पर यह रहे, वहां-वहां काली कमाई वाले रुपए कैश में अपने बैंक अकाउंट में जमा करवाए। 25 अक्टूबर को ही इनके खिलाफ आय से अधिक संपत्ति और भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत FIR दर्ज किया गया था। इसके बाद कोर्ट से सर्च वारंट हासिल कर सुबह में दोनों घरों पर छापेमारी की गई थी।

इनपुट – भास्कर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *