घाटों की स्थिति खतरनाक, छठ में अर्घ्य देना चुनौती ||

छठ व्रतियों व श्रद्धालुओं को घाट व पोखर पर अर्घ्य देने के दौरान परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। बाढ़, अवैध खनन व बदइंतजामी के कारण बूढ़ी गंडक नदी के प्रमुख छठ घाट बेहद खतरनाक स्थिति में हैं। शहर के अखाड़ाघाट, सिकंदरपुर व आश्रमघाट जैसे प्रमुख छठ घाट कुव्यवस्था का शिकार हैं।

हिन्दुस्तान की टीम ने रविवार को शहर के प्रमुख छठ घाटों की पड़ताल की। इस दौरान घाटों की स्थिति अपनी दुर्दशा बयां करती नजर आयी सबसे अधिक भीड़भाड़ वाला आश्रमघाट काफी खतरनाक स्थिति में है। नमामी गंगे योजना के तहत निर्माण कार्य के लिए जगह-जगह पिलर खड़ा कर दिया गया है। पिलर से निकले लोहे की छड़ लोगों के लिए जानलेवा साबित हो रही है। वहीं बाढ़ के कारण मिट्टी के कटाव से घाट बेहद खतरनाक स्थिति में है। कटाव के कारण नदी में उतरते ही व्रतियों व श्रद्धालुओं को कई फीट पानी का सामना करना पड़ सकता है। वहीं कई जगहों पर अत्यधिक कटाव से डूबने वाली स्थिति बन गई है।।

इनपुट – हिंदुस्तान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *