ऑटो गैंग की लेडी मुखिया समेत चार को फिल्मी स्टाइल में पुलिस ने पकड़ा

शहर के सरैयागंज टावर के पास बुधवार को ऑटो सवार बदमाशों ने साहेबगंज के जगदीशपुर निवासी पूर्व मुखिया रामचंद्र राय के डेढ़ लाख रुपये उड़ा लिए। इस दौरान ऑटो चालक बगैर भाड़ा लिए भागने लगा। इसपर लोगों की मदद से उसे पकड़ा। मौके पर पहुंची नगर पुलिस ने चालक को अपने कब्जे में ले लिया। उससे पूछताछ के आधार पर तीनकोठिया से दो महिला समेत तीन अन्य बदमाशों को भी धर दबोचा। इसकी पुष्टि सिटी एसपी राजेश कुमार ने की है। उन्होंने कहा कि वारदात के बाद नगर पुलिस ने सिर्फ तीन घंटे में उड़ाए गए रुपये बरामद करने के साथ बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया है।

पूर्व मुखिया के घर में शादी समारोह है। खरीदारी के लिए वह पत्नी के साथ रेडक्रास शाखा से 1.50 लाख रुपये निकाले थे। दोपहर करीब डेढ़ बजे वहां से एक ऑटो में बैठकर सरैयागंज के लिए निकले। रुपये पूर्व मुखिया ने अपनी बंडी के अंदर वाले पॉकेट में रखे थे। ऑटो में दोनों साइड से दो महिलाएं भी बैठी। सरैयागंज टावर पर ऑटो से उतरने पर पूर्व मुखिया ने पाया कि उनके पॉकेट में रुपये नहीं है। इस दौरान दोनों महिलाएं वहां से नौ-दो ग्यारह हो गईं।

पूर्व मुखिया और पुलिस के बयान पर दो एफआईआर :

सिटी एसपी ने बताया कि गिरफ्तार आरोपितों की पहचान ऑटो चालक तिलक मैदान की एजाजी गली निवासी रिक्की आलम, आमगोला के माईस्थान निवासी अमित कुमार आदत, पक्की सराय के तिनकोठिया की इशरत परवीन और पारू के रेपुरा निवासी रानी खातून के रूप में हुई है। इनके खिलाफ नगर थानेदार ओमप्रकाश ने पूर्व मुखिया रामचंद्र राय के बयान पर एफआईआर दर्ज कर ली है। इसके अलावा पुलिस ने अपने बयान पर इन सबके खिलाफ दूसरा केस मादक पदार्थ अधिनियम के तहत भी दर्ज किया है। गुरुवार को सबको कोर्ट में पेश किया जाएगा।

ऑटो चालक ने उगले साथियों के नाम :

सिटी एसपी ने बताया कि नगर थाने पर गहन पूछताछ में गिरफ्तार ऑटो चालक रिक्की आलम ने पुलिस के समक्ष अपने साथियों के नाम व पते का खुलासा किया। पुलिस ने रिक्की से अन्य फरार आरोपितों को फोन कराया। बताया कि वह किसी तरह मौके से भागने में सफल रहा है। पुलिस सबको खोज रही है। वे छिपे रहे। वह एक घंटे से डेढ़ घंटे में फोनकर बुला लेगा।

तीनकोठिया में शौचालय के पास सबको बुलाया :

पुलिस ने अपनी रणनीति के आधार पर कार्रवाई शुरू की। फोन करने के करीब सवा घंटे बाद रिक्की से अन्य आरोपितों को फोन कराया। उनलोगों ने बताया कि वे पक्कीसराय में तीनकोठिया के पास वाले शौचालय के पास छिपे हैं। इसके बाद नगर थानेदार ओमप्रकाश, सब इंस्पेक्टर ओमप्रकाश, जमादार नागेश्वर मंडल व अन्य पुलिस कर्मी सादे ड्रेस में वहां पहुंचे।

काले शीशे वाली गाड़ी से गई थी पुलिस :

रिक्की को पुलिस काले शीशे वाली गाड़ी से मौके पर ले गई थी। उसने गाड़ी के अंदर से अपने साथियों की पहचानकर पुलिस को बतायी। इसके बाद पुलिस ने तीनों को दबोच लिया। तलाशी लेने पर अमित कुमार आदत के पास से 80 पुड़िया स्मैक भी मिली। वहीं महिलाओं के पास से 1.50 लाख रुपये बरामद किए गए। इनके मोबाइल भी पुलिस ने जब्त कर लिए।

इशरत परवीन गैंग की सरगना :

पुलिस की पूछताछ में बताया कि इशतर परवीन गैंग की सरगना है। बताया गया कि गैंग भाड़े के ऑटो से वारदात को अंजाम देता था। बदमाश बैंक के आसपास मंडराते रहते थे। रुपये लेकर बैंक से निकलने वाले का हावभाव देखकर निशाने पर ले लेते थे। फिर उसे ऑटो में बैठाकर खुद दोनों साइड से बैठकर चलते ऑटो में वारदात को अंजाम देकर उतर जाते थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *