बॉडी बनाने के नाम पर युवाओं को दी जा रही पशुओं की दवा, पांच जिम संचालक गिरफ्तार

मुजफ्फरनगर. थाना नगर कोतवाली पुलिस और ड्रग्स विभाग की टीम ने जिले में कई जिमों में छापेमारी करते हुए बड़ा खुलासा किया है। शहर के जिम में युवाओं काे स्टेरॉयड और पशुओं की प्रतिबंधित दवा दी जा रही थी। पुलिस टीम ने ड्रग्स विभाग के साथ शहर के तीनों थाना क्षेत्रों में पांच जिम संचालकों को गिरफ्तार किया है। इनके कब्जे से बड़ी मात्रा में प्रतिबंधित दवाएं बरामद हुई हैं।

मुजफ्फरनगर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अभिषेक यादव ने प्रेसवार्ता में बताया कि छापेमारी के दौरान गिरफ्तार जिम संचालकों से युवाओं को दी जा रही जानलेवा दवाएं बरामद हुई हैं। यह दवाई बिना उचित लाइसेंस के कंबोडिया, रूस, थाईलैंड आदि विदेश से आयातित कर जिम संचालकों द्वारा मंगाई गई है। उन्होंने बताया कि जिम संचालक बॉडी बनाने के नाम पर युवाओं इस तरह की जानलेवा दवा दे रहे थे, जो जानवरों को भी दी जाती है। बेहद सस्ते दामों में खरीदी गई इस दवा को महंगे दामों पर बेचा जा रहा था। इन दवाइयों के प्रयोग से जिम करने आए युवाओं की किडनी खराब होना, हड्डियों पर हानिकारक प्रभाव होना और शरीर में बेचैनी आदि शारीरिक प्रभाव पड़ता है।

जिम संचालकों के पास से एडीनोसाइन मोनोफॉस्फेट इंजेक्शन, मेपीन्तरिनमाइन सल्फेट, ट्रेनबलून, एएमपी, रिडेक्स ट्रोपिन, फ्रॉग आर/पी, विन 100- स्टेनजोलोल, आदि प्रतिबंधित दवाएं बरामद की गई हैं। पुलिस ने दीपक धीमान पुत्र ओमप्रकाश धीमान निवासी नई मंडी, शाहिद पुत्र मोहम्मद शहीद निवासी खालापार, फुरकान पुत्र इकबाल निवासी सरवट, अर्जुन कोरी पुत्र जगत सिंह निवासी रामपुरी थाना कोतवाली, मोहम्मद आमिर पुत्र अब्दुल बासित निवासी लद्दावाला को मौके से गिरफ्तार किया है। पुलिस ने गिरफ्तार युवकों पर गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया गया है। एसएसपी ने बताया कि अब अगला टारगेट इन प्रतिबंधित दवाओं को बेचने वाले मेडिकल स्टोर होंगे। एसएसपी ने कोतवाली पुलिस की इस गुडवर्क के लिए जमकर तारीफ की।

Input – Patrika News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *