सोनू सूद की मदद से जिले के बेटे अभिषेक के नेतृत्व में किर्गिज़स्तान से लौटे भारतीय छात्र

मुजफ्फरपुर|अनामिका; 17 मार्च से किर्गिस्तान में लॉकडाउन था। कोरोना के केस लगातार बढ़ रहे थे। हर राज्य के लिए वहां से फ्लाइट जा रही थी मगर बिहार के लिए महज दो। अपने जिले के छात्रों के साथ बिहार के दो हजार से अधिक छात्र वहां पर हैं। अन्य राज्यों के भी बड़ी संख्या में छात्र थे। इंटरनेशनल फ्लाइट चल रही थी। मगर हमें सीट नहीं मिल रही थी। हमने ट्वीट किया, गुहार लगाई पर किसी ने नहीं सुनी। लेकिन सोनू सूद सर मसीहा के रूप में आए। आज उनकी मदद से हम अपने घर लौट पाए हैं। पिछले पांच महीने की जद्दोजहद के बाद घर लौटे मेडिकल छात्र अभिषेक ये बताते हुए भावुक हो उठे।

गरीबस्थान मंदिर रोड निवासी अभिषेक किर्गिस्तान के विवि में स्टूडेंट्स यूनियन के प्रेसिडेंट हैं। अभिनेता सोनू सूद की मदद से सैकड़ों छात्रों की घर वापसी लौटने का नेतृत्व करने वाले अभिषेक कहते हैं कि एक ट्वीट पर 10 दिन में उन्होंने हमारे लिए घर आने का रास्ता बना दिया। जबकि पांच महीने में हमने सैकड़ों ट्वीट हर जगह किए। हमारे ट्वीट पर अभिनेता सोनू सूद ने संपर्क किया और हम घर वापस आ सके। बिहार के 500 से अधिक छात्रों के साथ, यूपी, छत्तीसगढ़ समेत कई राज्यों के तीन हजार से अधिक छात्र अपने घर लौट चुके हैं।

अलग-अलग कॉलेज में पढ़ने वाले छात्रों को साथ जुटाया
अभिषेक बताते हैं कि हमारे कॉलेज बंद थे। परीक्षा हो चुकी थी। हमारे पास कोई रास्ता नहीं थ। ऐसे में 13 जुलाई को सोनू सर का फोन आया। उसके बाद हमने एक ग्रुप बनाया। फिर शुरू हुई किर्गिस्तान में अलग-अलग कॉलेज में पढ़ने वाले छात्रों के डिटेल्स और उनके कागजी प्रक्रिया पूरी करने की प्रक्रिया। 23 जुलाई को पहली फ्लाइट आई। उसके बाद से लगातार जारी है। 27 जुलाई को भी छात्र आए हैं। अभिषेक कहते हैं कि आज हर दिन मैं और सोनू सर एक-दूसरे से जुड़े हुए हैं। कितने छात्र आए, घर पहुंचे या नहीं। हर दिन वो खबर ले रहे हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *