राज्य निर्वाचन आयोग ने सभी डीएम की बैठक बुलाई नगर निकाय चुनावों पर अहम फैसला कल

बिहार में नगर निकाय चुनावों पर अहम फैसला सोमवार को होगा। राज्य निर्वाचन आयोग ने नगर निकाय चुनाव की तैयारियों की समीक्षा और महत्वपूर्ण निर्णय लेने के लिए 22 अगस्त को सभी जिलों के जिलाधिकारी सह जिला निर्वाचन पदाधिकारी, नगरपालिका के साथ बैठक बुलायी है। इस बैठक की अध्यक्षता राज्य निर्वाचन आयोग के आयुक्त करेंगे। इस बैठक में सभी प्रमंडलीय आयुक्त भी शामिल होंगे।

वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से होने वाली इस बैठक में सभी अनुमंडलों के अनुमंडलीय पदाधिकारी भी शामिल होंगे। बैठक के बाद आयोग द्वारा नगर निकाय चुनाव को लेकर महत्वपूर्ण निर्णय लिया जाएगा। बैठक को लेकर आयोग के सचिव मुकेश कुमार सिन्हा ने सभी प्रमंडलीय आयुक्तों एवं जिलाधिकारियों को निर्देश दिया है।

इन एजेंडों पर होगी चर्चा इस अहम बैठक में मतदाता सूची की तैयारी, मतदान केंद्र की स्थापना, नगर निकायों का वार्डवार आरक्षण/ आवंटन, डैश बोर्ड, ईवीएम का आवंटन, फर्स्ट लेवल चेकिंग (एफएलसी), कमिशनिंग संबंधी कार्य, निकाय के तीन पदों के अनुरूप मतगणना हॉल का आकलन, चुनाव में होने वाले खर्च को लेकर नगर विकास विभाग को राशि आवंटन के लिए पत्र भेजने, मतदान सामग्रियों की व्यवस्था एवं ससमय वितरण इत्यादि को लेकर चर्चा की जाएगी।

आरक्षण प्रस्तावों का अनुमोदन 25 से 31 तक आयोग के अनुसार जिलों से आए आरक्षण प्रस्ताव का अनुमोदन 25 से 31 अगस्त तक किया जाएगा। जिलों को नए सॉफ्टवेयर पर अपना प्रस्ताव अपलोड करना होगा। राज्य निर्वाचन आयोग ने आरक्षण की पुरानी व्यवस्था को स्वीकार किया है। इसके तहत महिलाओं को 50 फीसदी आरक्षण मिलेगा। आयोग ने 172 नगर निकायों में आरक्षण तय करने का निर्देश जारी कर दिया है। राज्य में मेयर व उप मेयर का मतदाता द्वारा सीधे निर्वाचन होगा। इनका दलीय आधार पर चुनाव नहीं होगा। मेयर व उप मेयर की सीटों के आरक्षण को लेकर आयोग के स्तर से अलग से निर्देश दिया जाएगा

राज्य के 176 नव अधिसूचित निकायों में पहली बार चुनाव

राज्य के 176 नव अधिसूचित नगर निकायों में आम चुनाव पहली बार आयोजित किए जाएंगे। राज्य में कुल 248 नगर निकायों में चुनाव की तैयारी की गयी है। इनमें 19 नगर निगम, 83 नगर परिषद और 146 नगर पंचायत शामिल हैं। इनमें 68 नगर निकाय पुराने हैं। नए नगर निकायों में नवगठित/ परिसीमन के बाद व पुनर्गठित नगर निकाय शामिल हैं।

13 निकायों का अभी कार्यकाल पूरा नहीं

राज्य के 13 नगर निकायों का कार्यकाल अभी पूरा नहीं हुआ है। इनमें नगर पंचायत खुसरूपुर, विक्रम, नौबतपुर, कोचस, सुरसंड, केसरिया, पकड़ीदयाल, मेहषी और नगर परिषद में विक्रमगंज, दाउदनगर, महनार, ढाका एवं बांका शामिल हैं।

सौ निकायों का कार्यकाल 9 जून को खत्म हुआ

राज्य के 100 नगर निकायों का कार्यकाल 9 जून 2022 को खत्म हो चुका है। इन नगर निकायों में शपथ ग्रहण 9 जून, 2017 को कराया गया था। निकाय आम चुनाव 2017 में राज्य की 101 नगर निकायों में चुनाव कराया गया था। इसमें 6 नगर निगम, 31 नगर परिषद और 63 शामिल हैं। इसमें पटना नगर निगम के निर्वाचित प्रतिनिधियों का कार्यकाल 19 जून 2022 को पूरा हुआ है। जबकि पटना जिला के नगर परिषद बाढ़, खगौल, दानापुर, मोकामा, फुलवारीशरीफ, मसौढ़ी व बख्तियारपुर के साथ नगर पंचायत मनेर और कटिहार जिले की नगर पंचायत बारसोई का कार्यकाल 21 जून को पूरा हुआ है। राज्य में सबसे अंत में 27 जून को मुंगेर नगर निगम के निर्वाचित प्रतिनिधियों का कार्यकाल समाप्त हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.