ग्राहक बन रेड लाइट एरिया पहुंची पुलिसवालों को मिलीं 5 लड़कियां, जानें कॉलेज से यहां तक के सफर की कहानी

सीतामढ़ी के रेड लाइट एरिया में हुई छापेमारी में पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है. नगर थाना क्षेत्र में जिला प्रशासन और पुलिस विभाग के सीनियर धिकारियों के द्वारा की गई इस छापेमारी में 5 नाबालिग लड़कियों को देह व्यापार के धंधे से मुक्त कराया गया. पुलिस अधिकारियों का कहना है कि 5 नाबालिग लड़कियों से जबरन देह व्यापार का धंधा कराया जाता था.

एनजीओ संचालकों की सूचना पर नगर थाना क्षेत्र की पुलिस घटनास्थल पर छापेमारी करने पहुंची थी. पांचों नाबालिग लड़कियों को तहखाने में रखा गया था. तकरीबन तीन घंटे तक चली छापेमारी के बाद पुलिस ने लड़कियों को यहां से मुक्त कराया और इस धंधे में संलिप्त दलाल और कई ग्रहक को को भी गिरफ्तार किया है.

स्थानीय लोगों का कहना है कि पुलिसवाले पहले ग्राहक बनकर क्षेत्र में पहुंची. फिर उनकी निशानदेही पर अपने साथियों को बुलाकर छापेमारी शुरू कर दी गई. कहा जाता है कि जिन नाबालिग लड़कियों को यहां से मुक्त कराया गया है उनको जमीन के अंदर तहखाने में छिपाकर रखा गया था. बताते चलें कि एक साल पहले इस रेड लाइट एरिया में दिल्ली के एक एनजीओ के शिकायत पर पुलिस ने छापेमारी कर दिल्ली, बंगलादेश और नेपाल की लड़कियों को यहां से मुक्त कराया गया था.

पुलिस का कहना है कि प्यार के जाल में फंसाकर लड़कियों को लाकर यहां बेचने का काम किया जाता है. फिर उनसे जबरन देह व्यापार का काम कराया जाता है. जो ऐसा करने से इंकार करती हैं उन्हें तरह तरह से प्रताड़ित करने का काम किया जाता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.