सिकंदरपुर में शाम तक 10 फीट में कटाव दर्जनों लोगों में विस्थापित होने का भय

पिछले दो दिनों से हो रही तेज बारिश से बूढ़ी गंडक में बढ़े पानी से तटबंध पर दबाव बढ़ गया है। इससे सिकंदरपुर स्थित वार्ड 14 में तटबंध में कटाव भी शुरू हो गया है। रविवार की शाम छह बजे तक करीब 10 फीट में तटबंध में कटाव हो चुका था। पूर्व में भी यहां के तटबंध पर कटाव हुआ था जिसके बाद जल संसाधन विभाग की टीम ने सैंड बैग से बांध की मरम्मत कराई थी। जहां तक काम हुआ था उसके आगे फिर से कटाव शुरू हो चुका है।

कटाव होने के कारण कई घरों पर खतरा मंडराने लगा है। पांच हजार से अधिक की आबादी इससे प्रभावित हो सकती है। मोहल्ले के लोग काफी भयभीत हैं। पिछली बार स्थानीय लोगों ने जल संसाधन विभाग के अधीक्षण अभियंता को आठ जुलाई तटबंध में कटाव होने की जानकारी दी थी। इसके अगले दिन विभाग के कार्यपालक अभियंता बबन पांडेय ने मौके पर पहुंच कर तटबंध का जायजा लिया था। उन्होंने तटबंध में कटाव होने की जानकारी विभाग के आला अधिकारियों को उपलब्ध करायी थी। इसके बाद 11 जुलाई को बाढ़ संघर्षात्मक बल के अध्यक्ष नलिनी रंजन ने प्रभावित स्थल का जायजा लिया था। उन्होंने मरम्मत करने का निर्देश दिया। इसके बाद तटबंध मरम्मत का काम शुरू हुआ था। जल संसाधन विभाग की ओर से बालू भरा बोरा रख कर तटबंध को सुरक्षित रखने का प्रयास किया गया था।

स्थल निरीक्षण करेगी विभाग की टीम :

मोहल्ले के राजेश कुमार ने बताया कि बारिश होने के बाद नदी में पानी बढ़ गया है। इसके कारण तटबंध पर दबाव बढ़ गया है। जिस जगह तटबंध पर बालू से भरा बैग रखा गया था, उसके आगे फिर कटाव शुरू हो गया है। करीब आठ से 10 फीट में कटाव हो चुका है। अधिकारियों को तटबंध में आगे भी बालू भरा बैग रखने को कहा गया था। लेकिन काम नहीं हो पाया। स्थानीय निवासी अमित रंजन ने बताया कि बारिश होने से नदी में पानी बढ़ गया है। इससे नदी के तटबंध पर दबाव बढ़ गया है। जल संसाधन विभाग के कार्यपालक अभियंता बबन पांडेय ने बताया कि लोगों ने तटबंध में कटाव होने की जानकारी दी है। स्थल का निरीक्षण करने के बाद आगे की कार्रवाई की जायेगी।

इनपुट : लाइव हिंदुस्तान

Leave a Reply

Your email address will not be published.