पागल कुत्ते को गुस्साए लोगों ने पीट-पीटकर मार डाला 12 लोगों पर किया था हमला

बेगूसराय के मंझौल में रविवार की सुबह में अचानक पागल कुत्ते के हमले में एक दर्जन से अधिक लोग जख्मी हो गए जिसके बाद गुस्साए लोगों ने पागल कुत्ते को ढूंढ कर पी पीटकर मार डाला। कुत्ते का इलाके में आतंक बढ़ गया था। इससे क्षेत्र में अफरातफरी का माहौल बन गया । जख्मियों में आधे दर्जन लोग गंभीर रूप से जख्मी हो गए। जख्मियों में पुरुष एवं महिलाएं दोनों शामिल हैं। मंझौल शताब्दी मैदान में मॉर्निंग वॉक कर रहे और खेत खलिहान, सड़क, कावर झील जाते मछुआरों पर पागल कुत्ते ने हमला कर दिया था

घायलों को अस्पताल में कराया भर्ती एबीवीपी नेता कन्हैया कुमार ने जख्मियों की चिकित्सा के लिए रेफरल अस्पताल प्रभारी डॉ अनिल प्रसाद तथा चेरियाबरियारपुर पीएचसी के प्रभारी डॉ जगत नंदन से संपर्क किया। उनकी पहल पर जख्मियों के प्राथमिक उपचार के लिए चेरियाबरियारपुर पीएचसी से एंबुलेंस से भेजी गयी। रेफरल अस्पताल के प्रभारी डॉ. अनिल प्रसाद ने बताया कि रेफरल अस्पताल में डॉग बाइट के इलाज की समुचित व्यवस्था नहीं है। चेरियाबरियारपुर पीएचसी द्वारा जख्मिय कोदो एंबुलेंस पर बेहतर इलाज के लिए बेगूसराय सदर अस्पताल भेजा गया। जख्मियों में मंझौल निवासी सेवानिवृत्त पोस्टमास्टर रामसागर राय, मंझौल पंचायत 01 निवासी सुरेश प्रसाद सिंह, अनीता देवी, छहू यादव, मंझौल पंचायत 02 निवासी अनिल सिंह, लालो तांती, देबू सहनी, श्याम सुंदरी देवी, विक्रम कुमार, अनरसा देवी, कमला देवी, संगत टोला निवासी अखिलेश्वर सहनी सहित दर्जनभर से अधिक अन्य लोग शामिल है।

एक दर्जन लोगों को कुत्ते ने काटा था स्थानीय लोगों ने बताया कि सिर्फ एक कुत्ते के द्वारा विभिन्न क्षेत्रों में दौड़-दौड़ कर लोगों को काटा गया है। लोगों के द्वारा के द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार इसके अलावा कुछ मवेशियों को भी पागल कुत्ते ने काट लिया है। प्राप्त जानका के अनुसार आक्रोशित लोगों ने पागल कुत्ते को पकड़कर पीट-पीटकर मार दिया। सेवानिवृत्त पोस्टमास्टर रामसागर राय ने बताया कि अन्य दिनों की भांति वे जयमंगला हाई स्कूल के पास शताब्दी मैदान में मॉर्निंग वॉक कर रहे थे कि अचानक कुत्ते ने उनपर हमला कर काट लिया। अखिलेश्वर सहनी ने बताया कि वह मछली मारने कावर झील जा रहे थे कि अचानक कुत्ते ने उन पर हमला कर कई स्थानों पर काट लिया। कुत्ते के मरने की खबर सुनकर क्षेत्र के लोगों ने राहत की सांस ली

इनपुट : लाइव हिंदुस्तान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

पटना समेत 16 जिलों का लुढ़का पारा 5 वर्षों में दूसरी बार राजधानी का तापमान सबसे कम

राजधानी समेत प्रदेश में पछुआ हवा का प्रभाव बने होने से तापमान में अंतर देखने को मिल रहा है। सुबह कुहासा के साथ दिन भर ठंड का असर दिखा। दोपहर में धूप निकली, लेकिन, गर्माहट नहीं रही। इसके कारण दिनभर बदन से गर्म कपड़े नहीं उतरे। मौसम पूर्वानुमान के अनुसार, अगले पांच दिनों तक प्रदेश का मौसम शुष्क बने होने के साथ अगले 48 घंटों के दौरान प्रदेश के उत्तरी इलाकों में सुबह के समय कोहरे का प्रभाव बना रहेगा। राजधानी व आसपास हल्के कोहरे का असर रहेगा।

शनिवार को राजधानी समेत प्रदेश के 16 जिलों के अधिकतम तापमान में जहां कमी आई है वहीं 20 जिलों के न्यूनतम तापमान में आंशिक वृद्धि दर्ज की गई। पटना के अधिकतम तापमान में 0.4 डिग्री की गिरावट के साथ 24.6 डिग्री सेल्सियस व न्यूनतम तापमान में सामान्य से एक डिग्री वृद्धि के साथ 12.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

फरवरी में वर्षा के आसार कम
वरीय मौसम विज्ञानी डा.ए सत्तार ने बताया कि वातावरण में अचानक नमीयुक्त हवा के प्रवेश करने तथा अधिकतम तापमन में कमी के कारण मौसम में बदलाव दिखा। तराई क्षेत्र में (नेपाल से हिमाचल तक) ठंडी हवा का बहाव रहा। यह स्थिर नहीं रहेगा। दो दिन के अंदर सब कुछ सामान्य रहेगा। मौसम साफ व शुष्क हो जाएगा। फरवरी महीने में प्रदेश के अधिसंख्य जिलों में सामान्य से कम वर्षा के आसार है। वहीं, न्यूनतम व अधिकतम तापमान सामान्य से अधिक रहने के आसार है।

मौसम रहेगा शुष्क, तापमान में जारी रहेगा उतार-चढ़ाव
ग्रामीण कृषि मौसम सेवा, कृषि मौसम विभाग जलवायु परिवर्तन पर उच्च अध्ययन केन्द्र डा राजेन्द्र प्रसाद केन्द्रीय कृषि विश्वविद्यालय पूसा के अनुसार, अगले चार दिनों तक उत्तर बिहार के जिलों में आसमान प्रायः साफ तथा मौसम शुष्क रहने का अनुमान है। पूर्वानुमान की अवधि में अधिकतम तापमान 22 से 24 डिग्री सेल्सियस एवं न्यूनतम तापमान 10 से 13 डिग्री सेल्सियस के बीच रहेगा। सतही हवा की रफ्तार थोड़ा अधिक रह सकती है। 11-14 किलोमीटर प्रति घंटा की दर से पछिया हवा चलने की संभावान है। सापेक्ष आर्द्रता सुबह में 80 से 90 प्रतिशत तथा दोपहर में 55 से 60 प्रतिशत रहने की संभावना है।

गया में पांच सालों में न्यूनतम तापमान सबसे कम
मौसम विज्ञान केंद्र पटना की ओर से सूचना जारी करते हुए बताया कि जनवरी महीने में 13 दिन शीत दिवस की स्थिति बनी हुई थी। वहीं, जनवरी महीने में अत्यंत शीतलहर की स्थिति 10 दिनों तक बनी रही। आठ दिनों तक प्रदेश में शीतलहर की स्थिति बनी रही। इस बार जनवरी महीने में गया में पांच सालों में सबसे कम न्यूनतम तापमान आठ जनवरी को 2.9 डिग्री दर्ज किया गया था। पूरे जनवरी महीने में औसत न्यूनतम तापमान 7.8 डिग्री दर्ज किया गया।

इनपुट दैनिक जागरण

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

शराब तस्करों ने खोजा नया तरीका ढोल नगाड़े से बरामद किया गया शराब रेलवे पुलिस ने पकड़ा

मुजफ्फरपुर जंक्शन पर शुक्रवार को रेल पुलिस ने अमृतसर से दरभंगा जा रही जननायक एक्सप्रेस से ढोल नगाड़े से शराब बरामद की। शराब अलग-अलग ब्रांड की थी। रेल थानेदार दिनेश कुमार साहू ने बताया कि शराब के खिलाफ ट्रेनों मे छापेमारी की जा रही। इसी दौरान जननायक एक्सप्रेस से शराब बरामद किया गया। इस मामले मे प्राथमिकी दर्ज किया गया है। अन्य ट्रेनों मे भी छापेमारी की जा रही।

ढोल-नगाड़े, साउंड बॉक्स व कार के टायर मे थी शराब

रेल थानेदार ने बताया कि ट्रेन मे सूचना मिली थी की शराब की खेप आ रही। ढोलक समेत अन्य सामान मे उसे स्टॉक किया गया। ट्रेन के जंक्शन पर आने के बाद जांच की गई। ढोल समेत अन्य सामान को खोला गया। जिसमें ढोल नगाड़े की आड़ मे शराब की खेप मंगाई गई थी। शराब लावारिश स्थिति में था। पुलिस से बचने के लिए गाड़ी की टायर में शराब छिपा कर रखा था। ढोल-नगाड़े के अंदर शराब छिपाया गया था।

साउंड बाक्स खोलकर देखा तो अंदर में पूरी शराब भर कर रखा गया था। जनरल बोगी में बैठे सभी यात्रियों से पूछताछ की लेकिन पकड़े जाने के डर से किसी ने शराब के बारे में नहीं बताया। जिसके बाद शराब को जब्त कर थाने लाया गया। शराब की गिनती की गई है। कुल 54 बोतल शराब पाया गया। आशंका है की शराब की खेप हरियाणा से दरभंगा जा रही थी।

इनपुट दैनिक भास्कर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बिहार में NIA की बड़ी कार्रवाई PFI के राज्य सचिव के घर छापा इंटर के छात्र समेत हिरासत में तीन संदिग्ध

बिहार के मोतिहारी जिले में राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (एनआइए) ने बड़ी कार्रवाई की है। एनआइए और जिला पुलिस ने शनिवार को जिले के चकिया व मेहसी में छापेमारी कर पीएफआई के तीन संदिग्धों को हिरासत में लिया है। तीनों से राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी के अधिकारी और पुलिस अलग-अलग थानों में सघन पूछताछ कर रही है। पुलिस अधीक्षक कांतेश कुमार मिश्र ने बताया कि अभी कार्रवाई चल रही है। कार्रवाई पूरी होने के बाद विस्तृत जानकारी दी जा सकेगी।

बताया गया है कि राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी को मिली सूचना के आधार पर शनिवार की सुबह एनआइए की टीम मोतिहारी पहुंची और यहां आने के साथ स्थानीय पुलिस के साथ संदिग्ध स्थानों पर छापेमारी शुरू की गई। इस क्रम में चकिया नगर परिषद क्षेत्र में प्रतिबंधित संगठन पीएफआइ के राज्य सचिव रेयाज के घर पर भी छापेमारी की गई। हालांकि, वह नहीं मिला। वहीं, इसी थानाक्षेत्र के कुअवा से इंटर के छात्र दानिश को पकड़ा गया है। इसके अतिरिक्त मेहसी थानाक्षेत्र के इमाम पट्टी से अन्य संदिग्ध युवकों भी पुलिस ने उठाया है।

देवशिला और राम मंदिर पर की थी आपत्तिजनक टिप्पणी
बता दें कि नेपाल से अयोध्या स्थित राम मंदिर में राम दरबार की प्रतिमा के लिए के लिए देवशिला ले जाने के दौरान जब शिला यात्रा पूर्वी चंपारण जिला के मेहसी से गुजर रही थी। उसी दौरान मेहसी थानाक्षेत्र के इमादपट्टी गांव के उस्मान नामक एक युवक द्वारा इंटरनेट मीडिया पर वीडियो वायरल करने की बात सामने आई है। वीडियो में देवशिला व राम मंदिर को लेकर भड़काऊ व आपत्तिजनक टिप्पणी की गई है। इस छापेमारी को उस मामले से भी जोड़कर देखा जा रहा है।

इनपुट दैनिक जागरण

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बिहार की नई महागठबंधन सरकार का पहला बजट 28 फरवरी को विधानसभा में होगा पेश

बिहार की नई महागठबंन सरकार का पहला बजट 28 फरवरी को पेश किया जाएगा। नीतीश सरकार में वित्त मंत्री विजय चौधरी इस साल का बजट पेश करेंगे। इस बजट से बिहार की जनता को काफी उम्मीदें हैं। 20 लाख नौकरी और रोजगार देने का वादा करने वाली नीतीश सरकार कुछ बड़ा ऐलान कर सकती है।

बिहार विधानसभा का बजट सत्र 27 फरवरी से शुरू होगा और 5 अप्रैल तक चलेगा। इस दौरान कुल 22 दिन बिहार विधानसभा की कार्यवाही चलेगी। पहले दिन 27 फरवरी को राज्यपाल फागू चौहान का अभिभाषण होगा। इसके बाद 28 फरवरी को वित्त मंत्री विजय कुमार चौधरी राज्य का 2023- 24 का बजट पेश करेंगे।

विधानसभा सचिवालय के मुताबिक राज्यपाल के अभिभाषण पर वाद-विवाद के लिए 2 दिन, बजट पर सामान्य विमर्श लिए 2 दिन, तृतीय अनूपूरक के लिए एक दिन, बजट क अनुदान मांगों पर वाद-विवाद तथा विनियोग के लिए 12 दिन, राजकीय विधेयक एवं अन्य राजकीय कार्य के लिए दिन तथा गैर सरकारी संकल्प के लिए 2 दिन का कार्य दिवस रखा गया है। 27 फरवरी से लेकर 5 अप्रैल तक चलने वाले इस बजट सत्र के बीच में 16 दिन अवकाश के रहेंगे, जिसमें होली और रामनवमी से लेकर कई त्योहार शामिल हैं।

बता दें कि अगस्त 2022 में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एनडीए से नाता तोड़कर महागठबंधन के साथ सरकार बनाई थी। इसके बाद नई सरकार पहली बार बजट पेश करने जा रही है।

इनपुट : लाइव हिंदुस्तान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

भ्रष्‍टाचार का एक और नमूना पूर्णिया में ढलाई होते ही भरभराकर गिरा पुल दो घायल

पूर्णिया के बायसी में 113. 74 लाख का एक पुल ढलाई होते ही ध्वस्त हो गया। यह पुल ग्रामीण कार्य विभाग बायसी द्वारा बनवाया जा रहा था। मंगलवार को इस पुल की ढलाई की जा रही थी कि इसी दौरान पुल का आधा हिस्सा भरभरा कर गिर गया। इसके बाद निर्माणाधीन स्थव पर मौजूद इस पुल के संवेदक मुंशी भाग निकले। वहीं, पुल गिरने से दो मजदूर भी मामूली रूप से जख्मी हुए हैं, जिनका इलाज पास के निजी चिकित्सकों के यहां कराया गया।

बायसी के खपड़ा पंचायत में बनाए जा रहे इस पुल के संवेदक अमौर के रहने वाले मो. तकसीर आलम हैं तथा निर्माण कार्य की देखरेख करने वाली एजेंसी ग्रामीण कार्य विभाग बायसी है। इस पुल की लंबाई 20. 10 मीटर है तथा प्रधानमंत्री सड़क योजना के तहत बनाए जा रहे इस पुल के बन जाने से खपड़ा पंचायत के दो गांव चौनी एवं मलहरिया आपस में जुड़ जाएंगे.

संवेदक की लापरवाही से ध्‍वस्‍त हुआ पु‍ल: अधि‍कारी
पुल के ढलाई होते ही ध्वस्त होने की सूचना मिलने के बाद विभागीय अधिकारियों में हड़कंप मच गया और वे भागे-भागे पुल निर्माणास्थल पर पहुंचे, जहां उनके पहुंचने तक स्थानीय ग्रामीणों की भीड़ भी जमा हो गई। बायसी के ग्रामीण कार्य विभाग के कार्यपालक अभियंता रामू प्रसाद ने माना कि‍ ढलाई होते ही यह पुल संवेदक की लापरवाही के कारण ध्वस्त होकर गिरा है। उन्होंने यह भी बताया कि‍ तीन दिन पूर्व उन्होंने खुद इस निर्माणाधीन पुल का निरीक्षण किया था और संवेदक को कई तरह के सुधार करने के बाद पुल की ढलाई करने के निर्देश दिए थे। इसके बाद भी संवेदक ने बिना किसी सूचना के आज पुल की ढलाई शुरू कर दी, जिस कारण पुल के ध्वस्त होने की घटना घटी है।

संवेदक को ब्‍लैक लिस्ट में डालने की भेजी जाएगी रिपोर्ट
ढलाई होते ही पुल ध्वस्त होने की खबर बाद विभागीय अधिकारी हरकत में आ गए। इस मामले में लापरवाह संवेदक मो. तकसीर आलम को ब्‍लैक लिस्ट में डालने के लिए राज्य मुख्यालय को रिपोर्ट भेजने की तैयारी शुरू कर दी गई है। कार्यपालक अभियंता रामू प्रसाद ने बताया की आज शाम होने के कारण इस मामले की रिपोर्ट पटना नहीं भेजी गई है। बुधवार को ब्‍लैक लिस्ट में डालने को लेकर हर हाल में रिपोर्ट भेजी जाएगी।कमीशन खाने वाले अधिकारी इस ओर से पूरी तरह से आंखें बंद कर लेते हैं। योजना में चाहे अच्छी किस्म के छड़ तथा मानक के अनुसार छड़ देने का मामला हो या फिर बालू एवं सीमेंट की किस्म का हो, सबमें घटिया सामान का ही उपयोग किया जाता है। जब यह पुल ही ढलाई होते धवस्त हो गया तो इस पुल से होकर गुजरने वाले बड़े वाहनों का बोझ यह पुल कितने दिनों तक बर्दाश्त कर पाता इसका अंदाजा लगाया जा सकता है।

इनपुट दैनिक जागरण

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कुरियर कंपनी में 2.62 लाख रुपए की लूट बाइक सवार अपराधियों ने घटना को दिया अंजाम सीसीटीवी भी था खराब

मुजफ्फरपुर के सदर थाना क्षेत्र स्थित खबरा मे बाइक सवार तीन बदमाशों ने हथियार के बल पर एक कुरियर कंपनी के कार्यालय में घुसकर 2.62 लाख रुपए लूट लिया। विरोध करने पर कर्मचारियों के साथ मारपीट भी की गई। फिर, हथियार लहराते हुए भाग निकले। घटना के बाद स्थानीय लोगो की भीड़ जुट गई।

खराब था सीसीटीवी कैमरा

वहीं सूचना मिलते ही थानेदार सतेंद्र कुमार मिश्र दल बल के साथ मौके पर पहुंचे। घटना के संबंध में कर्मचारियों से जानकारी ली। वही थोड़ी देर बाद नगर डीएसपी राघव दयाल भी मौके पर पहुँचे। घटनास्थल की छानबीन की। वहां पर लगे सीसीटीवी फुटेज को खंगाला। हालांकि वह खराब मिला। प्रारंभिक जांच व पूछताछ के बाद पुलिस ने मौजूद कैशियर व कर्मचारियों का मोबाइल जप्त कर लिया। थानेदार सतेंद्र कुमार मिश्र ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि उक्त कार्यालय में लगे सीसीटीवी कैमरे खराब है। बताया गया की कार्यालय मे कैश की गिनती की जा रही थी। इन सभी बिन्दुओ पर जांच की जा रही है। कैशियर ज्ञान सरोवर के आवेदन पर एफआईआर दर्ज की गई है। बदमाशों की पहचान के लिए आस पड़ोस में लगे सीसीटीवी फुटेज को खंगाला जा रहा है। इसके अलावे मौजूद कर्मचारियों से भी पूछताछ किया जा रहा है। साथ ही उनके मोबाइल का कॉल डिटेल भी खंगाला जा रहा है। जल्द ही बदमाशों की पहचान कर गिरफ्तार किया जाएगा।

तीन की संख्या में थे बदमाश

घटना के संबंध में कर्मचारियों ने बताया कि जिस वक्त यह लूटपाट की घटना हुई उस दौरान कैशियर ज्ञान सरोवर सहित चार कर्मचारी कार्यालय के भीतर मौजूद थे। इसी दौरान गेट के बाहर एक बाइक रुकी। गेट खुला हुआ था। दिन भर हुए कलेक्शन की पैसे की गिनती की जा रही थी। इसी बीच उस बाइक से उतरकर तीन नकाबपोश बदमाश भीतर घुस गए। हथियार के बल पर सभी को बंधक बना लिया। गाली गलौज करते हुए पैसे लूटने लगे। विरोध करने पर गोली मारने की धमकी देते हुए सारे पैसे लूट लिया। इसके बाद हथियार लहराते हुए भाग निकला। शोर मचाने पर स्थानीय लोग इकट्ठा हुए। इसके बाद पुलिस को इसकी जानकारी दी गई। कर्मचारियों ने बताया कि तीनो बदमाशों की उम्र 25-30 के बीच की थी।

इनपुट दैनिक भास्कर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

चोरों ने दुकानदारों पर किया हमला तीन के सिर फटे 50 मीटर की दूरी पर सोती रही पुलिस

बेगुसराय के मंझौल ओपी क्षेत्र के मंझौल बाजार में चोरों ने रविवार की देर रात एक ज्वेलर्स दुकान में चोरी की घटना को अंजाम दिया। चोरों की आहट सुनकर जब आसपास के दुकानदार बाहर निकले तो चोरों ने उन पर लोहे की छड़ से हमला कर दिया। हमले में तीन दुकानदारों के सिर फट गए। तीनों मूर्छित होकर गिर पड़े। शोरगुल की आवाज सुनकर जब अन्य दुकानदार बाहर आए, तो चोरों के बीच अफरा-तफरी मच गई। सभी लोहे की छड़ को चलाते हुए भागने लगे। करीब आधे घंटे तक दुकानदारों ने चोरों के साथ मुठभेड़ किया।

वहीं, इस दौरान करीब 50 मीटर की दूरी पर स्थित सत्यारा चौक पर पुलिस की 112 गाड़ी लगी हुई थी। दुकानदारों जब पुलिसकर्मियों को बुलाने गए, तो 112 पर मौजूद सभी पुलिसकर्मी सोए हुए थे। दुकानदारों ने उ्हें जगाया को प्रशासन ने घटनास्थल पर जाने से इंकार कर दिया। यह सारी घटना लगभग एक से डेढ़ घंटे तक चलती रही, लेकिन प्रशासन को इसकी भनक भी नहीं लग सकी।

प्रत्यक्षदर्शी और पीड़ित दुकानदार गणेश चौधरी ने बताया कि रविवार की रात लगभग 1 बजकर 45 मिनट पर लगभग एक दर्जन की संख्या में चोर पूरी प्लानिंग के साथ मंझौल बाजार स्थित आलोक ज्वेलर्स दुकान में चोरी करने पहुंचे थे। सभी चोर अलग-अलग दिशा व अलग-अलग कार्य कर रहे थे। चार चोरों ने लोहे के छड़ और खंती से दुकान के शटर में लगे ताला को तोड़कर उसे ऊपर उठा दिया। इसके बाद वे अंदर घुसे और गल्ले में रखा 85 हजार रुपए नदक और लगभग 2 किलो चांदी का बर्तन उठा लिया।दुकान में खटपट की आवाज सुनकर अगल-बगल के दुकानदारों की नींद खुली तो सभी बाहर आए। इतने में चोरों ने सभी पर हमला क दिया। घायल दुकानदार सोनू कुमार ने बताया कि चोर पूरी प्लानिंग के साथ आए थे। वह अपने साथ एक बोलेरो गाड़ी भी लेकर आए थे। एक मोटरसाइकिल भी उनके पास था। चोर दुकान के अंदर मौजूद तिजौरी को गाड़ी में लोड करने के फिराक में थे, लेकिन वह सफल नहीं हो सके। भागने के क्रम में चोरों ने गोली भी चलाई, जिसमें से एक गोली सोनु कुमार के कमर को छूते हुए निकल गई।

घटनास्थल से 50 मीटर पर सोती रही पुलिस
पीड़ित दुकानदारों ने बताया कि रात में जब इस घटना को अंजाम दिया जा रहा था। इस क्रम में घटनास्थल से लगभग 50 मीटर की दूरी पर सत्यारा चौक पर पुलिस की 112 गाड़ी लगी हुई थी। दुकानदारों जब बुलाने गए, तो 112 पर मौजूद सभी पुलिसकर्मी सोए हुए थे। जगाने पर प्रशासन ने घटनास्थल पर आने से इंकार कर दिया। यह सारी घटना लगभग एक से डेढ़ घंटे तक चलती रही, लेकिन प्रशासन को इसकी भनक भी नहीं लग सकी। पुलिस को बुलाने पर पुलिस घटनास्थल पर नहीं आई। जिसके कारण दुकान को चोरी होने से बचाने के क्रम में बजरंग चौधरी पिता गौरी शंकर चौधरी, प्रेम चौधरी उर्फ भोलू पिता गणेश चौधरी तथा रमन चौधरी पिता शिवशंकर चौधरी के सर पर लोहे के छड़ से वार किया गया। जिससे उनका सर फट गया। वही इस बीचबचाव में सोनू कुमार पिता गणेश चौधरी को लोहे की छड़ से बाहर किया गया। जिससे उनका एक उंगली टूट गया। वही भागने के क्रम में चोरों ने जो गोली चलाई, वह गोली इसके कमर को छूते हुए निकल गए। घटनास्थल पर से प्रशासन को एक जिंदा कारतूस तथा एक खोखा मिला।वहीं, घटना की सूचना मिलने के बाद मंझौल डीएसपी सत्येंद्र प्रसाद सिंह, सर्किल इंस्पेक्टर दीपक कुमार, ओपी अध्यक्ष अजीत कुमार और चेरियाबरियारपुर थाना अध्यक्ष अमर कुमार अपने दलबल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। पूरी घटना की संपूर्ण जांच के लिए डॉग स्क्वायड की टीम को भी बुलाया गया है। खबर प्रेषण तक डॉग स्क्वायड की टीम घटनास्थल पर जांच कर रही थी।

इनपुट दैनिक जागरण

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बिहार में ठंड का यू-टर्न पांच डिग्री लुढ़का तापमान पछुआ हवा से बढ़ेगी ठिठुरन पढ़िए इस हफ्ते के मौसम का हाल

राजधानी समेत प्रदेश के तापमान में बड़ा उतार-चढ़ाव देखने को मिला। पटना समेत 22 जिलों के न्यूनतम तापमान में गिरावट आने से ठंड में वृद्धि हुई है। हालांकि धूप खिलने के कारण अधिकतम तापमान में आंशिक वृद्धि दर्ज की गई। मौसम विज्ञानी संजय कुमार की मानें तो दो दिनों के बाद न्यूनतम तापमान में दो से चार डिग्री की और गिरावट आने से ठंड बढ़ेगी। सुबह व शाम में विशेष ठंड का अनुभव होगा। अगले पांच दिनों तक प्रदेश में पछुआ हवा का प्रवाह बना रहेगा। अगले 48 घंटों के दौरान दक्षिण पूर्व भाग के भागलपुर, बांका, मुंगेर, खगड़िया को छोड़कर राजधानी समेत शेष जिलों में कोहरे का प्रभाव बना रहेगा। मंगलवार को उत्तर बिहार में कोहरे की सघनता बढ़ने के आसार हैं।

पांच दिनों बाद पांच डिग्री तापमान में गिरावट
रविवार को सबसे ठंडा गया जिला रहा। वहीं, राजधानी पटना में घना तो पूर्णिया में आंशिक कोहरा छाया रहा। यहां का न्यूनतम तापमान 5.7 डिग्री दर्ज किया गया, जबकि पांच दिनों बाद पटना के न्यूनतम तापमान में पांच डिग्री की गिरावट दर्ज की गई। राजधानी पटनर समेत प्रदेश के 23 शहरों के न्यूनतम तापमान में कमी आई है।

भागलपुर में छह डिग्री पारा गिरने से बढ़ी ठंड
भागलपुर और इसके आसपास के क्षेत्रों में न्यूनतम तापमान एक दिन में छह डिग्री गिर गया है। अधिकतम तापमान में भी एक डिग्री से ज्यादा की गिरवट दर्ज की गई। 15 किलोमीटर की रफ्तार से चल रही पछुआ हवा के कारण कनकनी बढ़ गई है। इसकी वजह पहाड़ी क्षेत्रों में हो रही बर्फबारी को बताया जा रहा है। हालांकि सोमवार से फिर तापमान में वृद्धि होने की संभावना है।बिहार कृषि विश्वविद्यालय के मौसम विभाग की मानें तो फरवरी के पहले सप्ताह तक तापमान में उतार चढ़ाव जारी रहेगा। पश्चिमी हवा 10 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलेगी। जिससे सुबह-शाम ठंड का अहसास होगा।

इनपुट दैनिक जागरण

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

महंगे पड़े पतंजलि के नूडल्‍स ट्रक से 28 कार्टन किए थे गायब पुलिस ने तीन आरोपियों को किया गिरफ्तार एक फरार

क्षेत्र में शुक्रवार की देर रात एक ट्रक से पतंजलि कंपनी के नूडल्स वजीरगंज के एक विक्रेता को आपूर्ति के लिए लाए जा रहे थे। इस दौरान गया से वजीरगंज पहुंचने के रास्ते में 28 कार्टन नूडल्स चोरी हो गए, जिसे शनिवार की सुबह दुकानदार की सूझबूझ से पुलिस ने बरामद कर लिया। घटना को अंजाम देने वाले ट्रक चालक अमरजीत तथा दो अन्य सहयोगी शुभम कुमार एवं अंकित कुमार को गिरफ्तार कर लिया गया है। एसएसपी आशीष भारती ने शनिवार की देर रात वजीरगंज थाना में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर घटना की पुष्टि और पकड़े गए आरोपितों के बारे में जानकारी दी।

दुकानदार ने दिखाई सूझबूझ
उन्‍होंने बताया कि पतंजलि की फैक्ट्री से सीधे वजीरगंज के लिए ट्रक पर नूडल्स भेजे गए थे। शनिवार की सुबह जब वजीरगंज के मुकेश पतंजलि स्टोर पर माल उतारा गया तो कंपनी के बिल का मिलान करने पर 28 कार्टून कम पाए गए। दुकानदार और कंपनी के बीच दूरभाष पर आपस में बातचीत होने पर आभास हो गया कि ट्रक से कार्टून की चोरी हो गई है।

इसके बाद दुकानदार ने सूझबूझ से काम लिया और इसकी सूचना स्थानीय पुलिस को दी। वजीरगंज थाने की पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए ट्रक चालक को गिरफ्तार कर लिया फिर उसकी निशानदेही पर उसके दो सहयोगियों को गिरफ्तार करते हुए चोरी के 24 कार्टून भी बरामद कर लिए गए तथा चौथे की तलाश जारी है।गिरफ्तार किए गए शुभम और अंकित वजीरगंज का निवासी है।

इनपुट दैनिक जागरण

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *